उडद दाल बडी Urad Dal Badi


सामग्री
1 किलो उडद दाल
100 ग्राम अदरक
50 ग्राम पकी हरी लाल मिर्च
1 चम्मच हींग
विधी
उडद की बडी बनाने के लिये हम धुली उडद दाल या बिना धुली उडद दाल ले सकते हैं। अगर छिलका वाली दाल लेते हैं तो हम्हें उसे पहले 5,6 घंटे पानी में भिगोकर धोकर छिलका उतारना होगा । अौर अगर धुली दाल लेते हैं तो उसे सीधे धोकर उपयोग कर सकते हैं।

उडद दाल को साफ करके अच्छी तरह धोकर 5,6 घंटे भिगो कर रख दें।

भीगी हुई दाल को एक बार फिर धोकर अतिरिक्त पानी निकाल दें। अौर मिक्सर में दाल को बिना पानी डाले मोटा दरदरा पीस लें। दाल पीसते समय ही उसमें अदरक व लाल हरी मिर्च डाल कर पीस लें।

अब पिसी हुई दाल को किसी बडे बरतन में रख लें हींग, पिसा अदरक व मिर्च मिला कर हाथ से अच्छी तरह ख़ूब फैंटें अावश्यकता हो तो फैंटते समय 2,3 चम्मच पानी डाल सकते हैं।

पतीली में दो गिलास पानी डालकर फैटी दाल की लोई डाल कर चेक करले की लोई पानी के ऊपर अाता है कि नही, अगर लोई ऊपर है इसका मतलब दाल अच्छी तरह से फ़िट चुकी अौर अगर लोई डूब जाती है तो दाल को अौर फेंटिये दाल जितना अधिक फेंटेगी बडी उतनी जल्दी पकती है ।

वैसे तो उडद की बडियाँ बडे साईज़ की बनाई जाती है लेकिन बडी बडियों को सुखाने मेंज्यादा समय लगता है। इसलिये छोटी छोटी बडियाँ बनाये तो जल्दी सूखेंगीं अौर सब्जी बनाने मै भी सहूलियत रहेगी।

बडी बनाने के लिये अाप साफ जगह पर धूप में सफ़ेद कपड़ा बिछा लें या बडी परात को पलट कर उसके ऊपर कपड़ा बिछा कर हाथ में पानी लगा कर फैटी हुई दाल की लोई लेकर अँगूठा व उगली की सहायता से गोल गोल बडी कपडे पर तोड़ कर सारी बडियाँ बना दो दिन इसी तरह सुखायें फिर दो दिन के बाद बडियों को कपडे से निकाल कर दो अौर सुखायें।

बेड़ियों को गर्मी की कड़ी धूप में सुबह जल्दी उठ कर बनायें जिससे सारे दिन की धूप लगेगी अौर बडी का कलर सफ़ेद रहेगा अौर ज्यादा अच्छी बनेंगीं। ध्यान रखें कि बडी बनाते समय तेज धूप निकले बादल न रहैं वरना बडी ख़राब हो जायेंगी।

बेड़ियों को 3,4 दिन तेज धूप में अच्छी तरह सुखा कर हवा बंद डिब्बे में भर कर रखें। बडी बन कर तैयार हैं। बडियाँ बना कर अाप एक साल तक रख सकते हैं ।

उडद दाल बडी की सब्जी बहुत ही स्वादिष्ट बनती हैं इसे ज़रूर बनायें।

नोट
उडद दाल बडी में काली मिर्च व खड़े गरम मसाला भी डाले जाते हैं अापको पसंद हो तो अाप भी डाल कर बनायें।

ध्यान रखें कि बडी में सूखी लाल मिर्च न डाले इससे बडी का कलर लाल हो जाता है। हरी लाल मिर्च का ही उपयोग
करें।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s